विष्णुगुप्त का नालंदा मुद्रालेख

भूमिका नालंदा के उत्खनन में बहुत सारी मुद्रएँ प्राप्त होती है उन्हीं में से यह भी एक है। विष्णुगुप्त का नालंदा मु्द्रालेख उनमें से एक है परन्तु यह खंडित अवस्था में है। संक्षिप्त परिचय नाम :- विष्णुगुप्त का नालंदा मु्द्रालेख स्थान :- नालंदा, बिहार भाषा :- संस्कृत लिपि :- ब्राह्मी समय :- गुप्तकाल, विष्णुगुप्त का …

विष्णुगुप्त का नालंदा मुद्रालेख Read More »

विष्णुगुप्त का दामोदरपुर ताम्रलेख (पाँचवाँ) गुप्त सम्वत् २२४ (५४३ ई० )

भूमिका विष्णुगुप्त का दामोदरपुर ताम्रलेख अपने क्रम में सुविधा के लिये ५वें क्रमांक पर रखा गया है। यह भी अपने पूर्ववर्ती ताम्रपत्रों तरह भूमिदान और भूमि प्रशासन से सम्बन्धित जानकारी का महत्त्वपूर्ण स्रोत है। इसको राधागोविन्द बसाक बसाक महोदय ने प्रकाशित किया है। संक्षिप्त परिचय नाम :- विष्णुगुप्त का दामोदरपुर ताम्रलेख अभिलेख – ५  ( Damodarpur …

विष्णुगुप्त का दामोदरपुर ताम्रलेख (पाँचवाँ) गुप्त सम्वत् २२४ (५४३ ई० ) Read More »

कुमारगुप्त तृतीय का भीतरी व नालंदा मुद्रालेख

भूमिका १८८६ ई० के आसपास गाजीपुर (उत्तर प्रदेश) जनपद में सैदपुर के निकट भीतरी ग्राम में मकान के लिए नींव खोदते समय ताँबा-चाँदी मिश्रित धातु की बनी एक मुहर मिली थी। उसे कानपुर के न्यायाधीश सी० जे० निकोल्स को किसी सज्जन ने भेंट की थी। वह अब लखनऊ के राजकीय संग्रहालय में है। उसमें ६२.६७ …

कुमारगुप्त तृतीय का भीतरी व नालंदा मुद्रालेख Read More »

नालन्दा मुद्रालेख

भूमिका नरसिंहगुप्त का ‘नालन्दा मुद्रालेख’ नालंदा के ही उत्खनन में मिट्टी पर छपी एक मुहर की छाप प्राप्त हुई है। संक्षिप्त परिचय नाम :- नरसिंहगुप्त का नालन्दा मुद्रालेख स्थान :- नालन्दा बिहार भाषा :- संस्कृत लिपि :- ब्राह्मी समय :- गुप्तकाल, नरसिंहगुप्त का शासनकाल विषय :- गुप्त राजवंश की वंशावली मूलपाठ १. [सर्व्वराजोच्छेतुपृथिव्या]मप्रतिस्थस्य महाराज श्रीगुप्त …

नालन्दा मुद्रालेख Read More »

भानुगुप्त का एरण स्तम्भ-लेख, गुप्त सम्वत् १९१ ( ५१० ई०)

भूमिका भानुगुप्त का एरण स्तम्भ-लेख मध्य प्रदेश के सागर जनपद में स्थित इसी नाम के स्थल ( एरण ) से मिला है। १८७४-७५ अथवा १८७६-७७ ई० में कनिंघम महोदय ने इसे ढूँढ निकाला था। अभिलेख को उन्होंने १८८० ई० में प्रकाशित किया। तदनन्तर जे० एफ० फ्लीट ने इसका सम्पादन करके corpus Inscriptionum Indicarum में प्रकाशित …

भानुगुप्त का एरण स्तम्भ-लेख, गुप्त सम्वत् १९१ ( ५१० ई०) Read More »

वैन्यगुप्त का नालंदा मुद्राभिलेख

भूमिका यह नालंदा मुद्राभिलेख वैन्यगुप्त के शासनकाल का है। यह विहार संख्या – १ के उत्खनन में एक मुहर की मिट्टी की छाप का एक खण्डित अंश प्राप्त हुआ है। इस मुहर के निम्नतम एक तिहाई भाग का मध्य त्रिभुजाकार अंश मात्र है और इस पर मुहर का अन्तिम ४ पंक्तियों के कुछ अंश उपलब्ध …

वैन्यगुप्त का नालंदा मुद्राभिलेख Read More »

गुनैधर ताम्रलेख, गुप्त सम्वत् १८८ (५०७ ई०)

भूमिका १९२५ ई० में बाँग्लादेश के कोमिल्ला के गुनैधर या गुणैधर नामक स्थल से यह ताम्रपत्र मिला है इसलिये इसको ‘गुणैधर ताम्रलेख’ या ‘गुनैधर ताम्रलेख’ कहा गया है। इस ताम्र-फलक से एक मुद्रा जड़ी हुई हैं जिसपर वामाभिमुख बैठे वृषभ का अंकन है और इसके नीचे ‘महाराज श्री वैन्यगुप्तः’ अंकित है। संक्षिप्त परिचय नाम :- …

गुनैधर ताम्रलेख, गुप्त सम्वत् १८८ (५०७ ई०) Read More »

नालंदा मुद्रा अभिलेख

भूमिका नालंदा मुद्रा अभिलेख, नालंदा के उत्खनन के समय मिली है। यह मुहर मिट्टी की छाप हैं। यहाँ से कई मुहरें मिली हैं। उसमें से एक यह खंडित छाप है। इसका आधे से अधिक भाग नष्ट हो गया है। इसका मात्र बायीं ओर का अंश शेष है। इसकी अंतिम पंक्ति में गुप्त नरेश ‘बुधगुप्त’ का …

नालंदा मुद्रा अभिलेख Read More »

दामोदरपुर ताम्रपत्र (चतुर्थ)

परिचय दामोदरपुर ताम्रपत्र (चतुर्थ) बांग्लादेश से मिले पाँच अभिलेखों में चौथा है। इसको राधागोविन्द बसाक महोदय ने प्रकाशित किया। संक्षिप्त परिचय नाम :- दामोदरपुर ताम्रपत्र (चतुर्थ) [ Damodarpur Copper Plate Inscription Of Budhgupta ] स्थान :- दामोदरपुर, उत्तरी बाँग्लादेश का रंगपुर जनपद। भाषा :- संस्कृत लिपि :- उत्तरवर्ती ब्राह्मी समय :- तिथि अनुपलब्ध; बुधगुप्त का शासनकाल …

दामोदरपुर ताम्रपत्र (चतुर्थ) Read More »

भीतरी शिलापट्ट लेख; गुप्त सम्वत् १७० ( ४८९ ई० )

भूमिका उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद से बुधगुप्त का भीतरी शिलापट्ट लेख मिला है। यह ध्यान रहे कि यहीं से स्कंदगुप्त का भीतरी अभिलेख मिला है। प्रस्तुत अभिलेख १९७४-७५ में काशी विश्वविद्यालय के कृष्णकुमार सिन्हा प्राप्त किया था। यह भग्न अवस्था में है। इसको पृथ्वी कुमार अग्रवाल ने प्रकाशित किया है। संक्षिप्त परिचय नाम :- बुधगुप्त …

भीतरी शिलापट्ट लेख; गुप्त सम्वत् १७० ( ४८९ ई० ) Read More »

Scroll to Top